किसान क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाये?

जैसा कि हम जानते है हमारा भारत देश एक कृषिप्रधान देश है और भारत की अर्थव्यवस्था का एकबड़ा भाग कृषि पर ही निर्भर है । जिसमें किसान का ही योगदान होता है। कई बार बहुत ज़्यादा बारिश या बाढ़ से फसलों का नुकसान हो जाता है जिसका पूरा बोझ किसान के ऊपर पड़ता है।

इस स्थिति को देखते हुए भारत सरकार ने किसानों के लिए एक Credit Card बनवाने योजना लागू की। जिससे किसान अपने नुकसान की भरपाई कर सके और नए उपकरण , बीज और खाद खरीद सके और मुश्किल समय मे उसका इस्तेमाल करके लोन ले सके। तो आइए जानते हैं कि किसान क्रेडिट कार्ड क्या है और किसान क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाये??

किसान क्रेडिट कार्ड क्या है?

किसान क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाये

किसान क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाये

किसान क्रेडिट कार्ड (Kissan Credit Card) दूसरे credit cards के जैसा ही है। जिसके ज़रिए किसान फ़सल के लिए बीज ,खाद , कीटनाशक, कृषि उपकरण साथ ही साथ बैंको से कम दर पर लोन ले सकता है। इसका उद्देश्य किसानों को आर्थिक सहायता और कृषि क्षेत्र की ज़रूरतों को पूरा करना है।

किसान क्रेडिट कार्ड योजना अगस्त 1998 में भारतीय बैंको द्वारा शुरू की गई थी। यह योजना राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) के ज़रिए आर. वी. गुप्ता की सिफारिशों पर तैयार की गई थी। इसके ज़रिये किसान क्रेडिट कार्ड रखने वाला किसान 3 लाख रुपये तक का लोन 9 प्रतिशत ब्याज़ दर पर किसी भी बैंक से ले सकता है।

एक साल के अंदर लोन चुकाने पर ब्याज़ दर में 3 प्रतिशत की छूट मिलती है। कृषि क्षेत्र से जुड़ा कोई भी व्यक्ति जैसे जो अपनी जमीन पर खेती करता हो या दूसरे की जमीन पर खेती करता हो, वह किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकता है।

किसान क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाये?

किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए आपको एक न्यूनतम योग्यता और कुछ जरूरी डॉक्यूमेंट की आवश्यकता होती है, जिसे पूरा करने के बाद आप अपना किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकते हैं वे कुछ इस तरह है-

  1. पहचान पत्र ( वोटर कार्ड, पैन कार्ड, आधार कार्ड, राशन कार्ड etc.)
  2. पता प्रमाण पत्र ।
  3. पासपोर्ट साइज कलर फ़ोटो।
  4. डिमांड प्रोमिसरी नोट।
  5. कम्पोजिट हाइपोथेकेशन एग्रीमेंट (CHA-1)
  6. कृषि ऋण अधिनियम या भूमि की कानूनी बंधक (CHA -4) के अनुसार जमीन पर शुल्क।
  7. प्रतिज्ञा का पत्र (OD -159)
  8. प्राधिकरण का पत्र (AG -15)
  9. व्यवस्थित रूप से अवकाशित संग्रहण रसीद की प्रतिज्ञा ।
  10. 10- 12 महीनों के भीतर अग्रिम चुकाने या उपज की बिक्री पर ब्योरा देना।
  11. भंडारण इकाई को सूचित करने के लिए बैंक के ग्रहणाधिकार।

Kissan Credit Card के लिए आवश्यकता?

KCC (Kissan Credit Card) बनवाने के लिए आवेदक किसान की उम्र 18 से 70 साल होनी चाहिए। जब आपके पास ये सारे डाक्यूमेंट्स हो और आप सभी योग्यता पूरी करते हों तो बस किसी नज़दीकी बैंक जो किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा देता हो , वहाँ जाकर ऑफलाइन फॉर्म भरकर बैंक से किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकता है या फ़िर ऑनलाइन भी किसान क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई कर सकता है।

ऑनलाइन किसान क्रेडिट कार्ड

अगर आप ऑनलाइन ही किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना चाहते हैं तो SBI बैंक से भी ऑनलाइन किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकते हैं इसके लिए आप SBI की ऑफिसियल बैंकिंग साइट पर जाना होगा या आप नीचे दी हुई लिंक से भी अप्लाई कर सकते हैं.

Sbi.co.in

इस लिंक को ओपन करके मांगी गई जानकारी ध्यान से भरे और डॉक्यूमेंट की सॉफ्टकॉपी को अपलोड करके सबमिट करदे। डॉक्यूमेंट वेरीफाई के बाद बैंक की तरफ़ से आपकी भूमि की जांच करने के लिए एक जांचकर्ता भेजा जाएगा। जिसके बाद वह ऑनलाइन आपका क्रेडिट कार्ड रिक्वेस्ट अप्रूव कर देगा। जिसके 15-20 दिन बाद आप सम्बन्धित बैंक जाकर अपना किसान क्रेडिट कार्ड ले सकते हैं।

ऑफलाइन किसान क्रेडिट कार्ड

इसके लिए आपको नज़दीकी बैंक में सभी डाक्यूमेंट्स के साथ जाना होगा वहाँ, वहाँ बैंक कर्मचारी आपका डॉक्यूमेंट वेरीफाई करके फॉर्म भर देगा। फ़िर वेरिफिकेशन पूरा होने के 15-20 दिन के बाद आप बैंक से अपना किसान क्रेडिट कार्ड ले सकते हैं।

किसान क्रेडिट कार्ड पर ब्याज दर?

जैसा कि ऊपर बताया जा चुका है कि किसान क्रेडिट कार्ड से 1-3 लाख रुपये तक का लोन लिया जा सकता है। जिस पर सरकार सब्सिडी भी देती है। किसान क्रेडिट पर लिया गया लोन हम 3 साल तक किश्तों में भर सकते हैं। जिस पर 7 से 14 प्रतिशत ब्याज़ लगता है। अगर किसान 1 साल के अंदर कर्ज़ को चुका देता है तो उस पर उसे 7 प्रतिशत ब्याज देना होता है जिसमें 3 प्रतिशत की छूट दे दी जाती है। इस तरह से एक साल में लगने वाला ब्याज़ केवल 4 प्रतिशत रह जाता है।

किसान क्रेडिट कार्ड के लाभ और विशेषता?

किसान क्रेडिट कार्ड पर हमें कई विशेषता मिलती है जैसे-

  • इसका इस्तेमाल हम साधारण डेबिट/क्रेडिट कार्ड के जैसे दुकानों पर कर सकते हैं। जिससे आप कहीं भी खाद, कीटनाशक दवाएं और बीज खरीद सकें।
  • इसके लिए आपको बार बार आवेदन करने के ज़रूरत नहीं हैं पुराना कर्ज़ भरते ही यह अपने आप इसे फ़िर से इस्तेमाल कर पायंगे।
  • किसान इसके जरिये किसी भी बैंक शाखा से लोन ले सकता है जिसे वह अपनी सुविधा के अनुसार फ़सल के बिकने के बाद भी कर सकता है।
  • किसान क्रेडिट कार्ड की लिमिट 3 लाख रुपये तक होती है। जिसमे से आप जितना धन निकालते है आपको उतने पर ही ब्याज देना होता है साथ ही साथ प्रोसेसिंग फीस कम या माफ़ कर दी जाती है।
  • किसान क्रेडिट कार्ड के साथ एक personal insurance भी दिया जाता है, जिसमे अगर किसान की एक्सीडेंट होने पर मृत्यु हो जाती है तो 50 हजार रुपये और विकलांग होने पर 30 हजार रुपये मिलते है। इस बीमा का लाभ वही किसान ले सकता है जिसकी उम्र 70 वर्ष से कम है।

किसान क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाये पोस्ट पर हमारी राय

हमने बताया कि किसान क्रेडिट कार्ड क्या है, किसान क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाये, और इसके लाभ भी बताए ।अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो पोस्ट को ज़रूर शेयर करें और पोस्ट पर अपनी राय ज़रूर दें।
आशा करता हूँ कि यह पोस्ट आपको पसंद आयी होगी।

2 Comments

  1. milind
  2. Sekhar Gour

Leave a Reply

error: