Poultry Farming Information in Hindi

Poultry farming एक ऐसा काम है जो कि कम लागत में शुरू होकर काफ़ी अच्छा मुनाफ़ा देता है। इसी वज़ह से लोग काफ़ी तेज़ी से इस काम की तरफ़ आकर्षित हो रहे है। हमारे देश मे मुर्गी पालन करना आसान भी है क्योंकि हमारी सरकार भी इस poultry farming के लिए बेहद कम Interest Rate पर लोन करवा रही है।

ऐसे में अगर आप भी Poultry Farming का व्यवसाय करना चाहते हैं तो आप बिल्कुल सही जग़ह पर हैं क्योंकि आज के इस Post में हम आपको Poultry farming, Layer Poultry, मुर्गी पालन की विधि, कुक्कुट पालन कैसे करे से जुड़ी सारी जानकारी देने वाले हैं।

Poultry Farming Information in Hindi – मुर्गी पालन – Poultry Farming Business Plan in Hindi 

Poultry Farming business plan in Hindi

Poultry Farming कैसे करे?

Poultry Farming का काम करने से पहले आपको मुर्गियों को रखने की जगह, इनके खाने की जानकारी, Poultry Farming योजना, इसमें लागत, registration, मुर्गियों को रखने के लिए shed और मुर्गियों को पालने की training की जानकारी जानना ज़रूरी है।

Poultry farming में आप अंडे और मुर्गे दोनों बेच सकते है।
अंडे के लिए की जानी वाली poultry फार्मिंग को layer breading भी कहते है। मीट के लिए की जानी वाली को Broiler breading कहते है।

दोनों के अपने अपने फायदे है। सबसे पहले आपको ये सोचना है की आपको Layer breading करनी है या Broiler breading।
दोनों के लिए अलग अलग तरह के चूसो को खरीदने की ज़रूरत है।

चूसो का चुनाव करे

Layer या broiler में से आपको जो भी breading करनी है, उसी के हिसाब से चूसे खरीदे। ब्रायलर breading के लिए आपको ऐसे नेसल के चूसे खरीदने है जो कम दाना खाने पर भी अच्छे वसन के हो जाए। जिससे आपको उन्हें बेच कर जल्दी फ़ायदा हो।

Poultry Farming के लिए पैसो की व्यवस्था

किसी भी व्यवसाय को शुरू करने के पैसो की व्यवस्था करना एक महत्वपूर्ण काम है। बिना पैसो के आप कोई भी काम शुरू नहीं कर सकते है। पोल्ट्री फार्मिंग के काम में भी ज़मीन ख़रीदने के लिए, Poultry फार्म बनवाने के लिए तथा नए चूज़े को ख़रीद कर लाने के लिए आपको पैसे की जरूरत पड़ेगी। ऐसे में इसके बारे में आपको पहले ही विचार कर लेना चाहिए।

इस समय सरकार द्वारा इस पोल्ट्री फार्मिंग को बढ़ावा देने के लिए कई तरह की योजनाएं चलायी जा रही है। Poultry Farming  के लिए बैंक द्वारा 0 Percent के Interest Rate पर लोन दिया जाता है। अतः आपको इस काम के लिए जितने भी पैसे लोन के रूप में चाहिए आप उसे बिना किसी ब्याज़ के बैंक द्वारा ले सकते हैं और जब आपका व्यवसाय व्यवस्थित हो जाये तब आप Bank को मूलधन लौटा दें।

छोटे Poultry फार्म के लिए आपको 35000 से 1 लाख तक के पैसो की ज़रूरत होगी। थोड़े बड़े poultry farm बनाने के लिए आपको 135000 से 7 लाख रूपये की ज़रूरत होगी।
अगर आप बड़े scale पर poultry फार्म बना रहे है तो आपको 7 लाख रुपयों से ज़्यादा लगाने होंगे।

छोटे Poultry फार्म के लिए आपको 35000 से 1 लाख तक के पैसो की ज़रूरत होगी। थोड़े बड़े poultry farm बनाने के लिए आपको 135000 से 7 लाख रूपये की ज़रूरत होगी।
अगर आप बड़े scale पर poultry फार्म बना रहे है तो आपको 7 लाख रुपयों से ज़्यादा लगाने होंगे।

एक बार पैसो का हिसाब लगा कर आपको जगह देखने की ज़रूरत होगी।

इसके अलावा भारत सरकार poultry farming लिए सब्सिडी भी देती है। यहाँ पर आपको ये भी बता दें कि Bank आपको इस काम के लिए तभी लोन देगा जब आपका Business Registered होगा।

Poultry Farm बनवाने के लिए जग़ह की जानकारी –

इस काम को शुरू करने के लिए आपको सबसे पहले शेड बनाने के लिए जग़ह की ख़ोज करनी पड़ेगी जहाँ पर आप Poultry Farm को खोलेंगे। मुर्गी पालन के लिए बनने वाले Poultry Farm का स्थान रिहायशी इलाकों से थोड़ा दूर होना चाहिए। इसके साथ ही जहाँ पर स्थित हो वहाँ पानी और मुर्गियों का दाना आसानी से पहुँच सके।

अक्सर कुक्कुट पालन के लिए बनने वाले फार्म की जमीन को आयताकार रखा जाता है। यानी कि फार्म की लम्बाई अधिक और चौड़ाई कम रखते हैं। इसके साथ ही कुछ और जरूरी बातें हैं जो कि आपको मुर्गी के फार्म की जग़ह ढूंढते समय ध्यान में रखनी है-

  • एक मुर्गी /मुर्गा को रहने के लिए औसतन 1- 1.5 वर्ग फुट की जग़ह चाहिए होती है। अब आप जितनी मुर्गियाँ पालना चाहते हैं उसी के अनुरूप गणना कर के आवश्यक ज़मीन का अनुमान लगा सकते हैं।
  • मुर्गी फार्म की जग़ह शहर की भीड़ और शोर-शराबे से दूर होनी चाहिए।
  • इसे अपने घर से भी थोड़ा दूर रखें, क्योंकि मुर्गी फार्म से काफ़ी बदबू आती है।
  • Poultry फार्म ऐसी जगह पर होना चाहिए जहाँ से Transportation अच्छा हो सके। ताकि मुर्गियों को बाहर से ले आने तथा ले जाने में कोई परेशानी ना हो।
  • फार्म खुले वातावरण में होना चाहिए, ताकि फार्म के भीतर वेंटिलेशन बना रहे।

Poultry farming के लिए सामान की ज़रूरत

यहाँ पर हम आपको Poultry Farming में लगने वाले जरूरी साधनों के बारे में बताने वाले हैं. आपको Poultry farming के लिए कुछ उपकरणों की ज़रूरत होगी जैसे :-

  • दाना खिलाने के लिए feeders चाहिए
  • जो भी मुर्गो का waste होगा उसकी साफ़ सफाई के लिए कुछ इंतज़ाम करना होगा
  • पानी पिलाने के लिए बर्तन की ज़रूरत होगी
  • Light के लिए bulb और गर्मी के लिए heaters चाहिए
  • अंडे रखने के लिए जगह

पोल्ट्री फार्मिंग के लिए जो ज़रूरी सामान है वो कुछ इस प्रकार है

  • फीडर
  • घोंसले
  • इनक्यूबेटर
  • बल्ब
  • हीटर
  • अंडा ट्रे
  • पिंजरे
  • Waste disposal के लिए डब्बे

मुर्गे /मुर्गियों के लिए दाना

आप बना बनाया खरीद कर ला सकते है या फार्म पर हुद बना सकते है। एक बार फार्म त्यार हो जाए फिर आपका ज़्यादातर खर्चा बस दाना खिलाने का होगा।

दाना हमेशा उत्तम क्वालिटी का ही खिलाए। जितना अच्छा दाना होगा उतना ही चूसे की हेल्थ अच्छी रहेगी।
100 चूसो के लिए कम से कम 3 खाने के बर्तन होने चाहिए।

पोल्ट्री फार्मिंग में 3 तरह के दानो की ज़रूरत होती है।

  • Pre starter feed – प्रे स्टार्टर – 1 से 10 दिन के चोसो के लिए
  • Starter – स्टार्टर – 11 से 20 दिन के चूसो के लिए
  • Finisher – फिनिशर – 21 दिन से बड़े मुर्गो के लिए

Poultry Farming Business को Register कैसे करवाए ?

हमारे देश मे किसी भी Business को करने के लिए उसका Registration कराना जरूरी होता है। ऐसे में आप Poultry Farming का काम करने जा रहे हैं तो इसका Registration जरूर करवाएं। तभी आप बैंक द्वारा इस व्यवसाय के लिए दिए जाने वाले आर्थिक लाभ का फ़ायदा उठा सकते हैं। इसी क्रम में आइये यहाँ पर इसे Registered करने के तरीके को जान लेते है।

  1. आप अपने पोल्ट्री फार्म को एक कम्पनी के रूप में एमएसएमई पर पंजीकृत करवा सकते हैं। इसके लिए आप udyogaadhar की Website पर Visit करें।
  2. इस Website पर जाने के बाद आप अपना आधार संख्या तथा अपनी सारी Detail दर्ज करें।
  3. इसके बाद वहाँ पर ‘वैलिडेट आधार’ के Option पर Click कर दें। ऐसा करने से आपका यानी कि कम्पनी के मालिक का आधार इस Website पर Register हो जाता है।
  4. आधार वैलिडेट हो जाने के बाद आपको अपनी कम्पनी की सारी Detail देनी होती है। इस Detail में आपको Company का नाम, पता, व्यवसाय का विवरण, राज्य, व्यापार शुरू करने की तिथि, कम्पनी में काम करने वाले लोगों की संख्या, बैंक Detail आदि सभी जानकारी देनी होती है।
  5. ये सभी Information देने के बाद आप वहाँ पर Submit पर Click कर दें।
  6. Submit करते ही आपका एमएसएमई की Website पर Registration Complete हो जाता है और आपको E-mail द्वारा इसका Certificate भी मिल जाता है।

इसका Certificate मिलने के बाद आपकी Company Registered मानी जाती है। अब आप Bank द्वारा मिलने वाले Loan के लिए भी आसानी से Apply कर सकते हैं।

आप इस सर्टिफिकेट को अपनी दूकान या फार्म पर भी लगा दे।

Poultry Farming के लिए शेड का निर्माण-

एक बार पैसो का इंतज़ाम हो जाये और पोल्ट्री फार्म के लिए ज़मीन की भी व्यवस्था हो जाये तो आप यहाँ पर शेड का निर्माण शुरू कर सकते हैं। मुर्गियों को रखने के लिए शेड बनवाते समय भी आपको कई बातों को ध्यान में रखना चाहिए.

  • शेड को आयत के आकार में बनवाएं।
  • शेड की दोनों तरफ़ की लम्बी दीवार को लोहे की जाली से बनवाइये, ताकि Shed के भीतर Ventilation अच्छा रहे।
  • शेड की छत एस्बेस्टस चादर से बनवाना किफ़ायती रहता है।
  • शेड को लम्बाई के अनुसार छोटे-छोटे भागों में बाँट दीजिए। अब हर Divide पर मुर्गियों के आहार और पीने के पानी को रखने का इंतज़ाम कर दीजिए।
  • शेड के अंदर रौशनी के लिए बल्ब और गरमाई के लिए हीटर होना चाहिए।
  • मुर्गो का दाना और पानी रखने के लिए बर्तन रखने का भी सही इंतज़ाम करे।
  • शेड का फ़र्श पक्का बनवाएं, ताकि इसकी सफ़ाई करनें में आसानी रहे।
  • शेड की जाली वाला हिस्सा उत्तर-दक्षिण की तरफ और शेड का हिस्सा पूर्व-पच्छिम की तरफ होना चाहिए ताकि चूसो को सीधा धूप न लगे।
  • शेड के दोनों तऱफ की जालीदार दीवारें फ़र्श से मात्र 6 इंच की ऊँचाई तक ही होनी चाहिए, ताकि मुर्गियों को बाहर से ही देखा जा सके।
  • शेड के Ventilation का जरूर ध्यान दें।

Brooding in chicken farm

Brooding

का मतलब है चूसो को गरम रखना। जैसे मुर्गी अपने चूसो को कुछ टाइम अपने मंखो के नीचे रख कर गरम रखती है ऐसे ही आपको भी मुर्गी के बच्चो को गरम रखना का इंतज़ाम करना होगा।
Brooding आप अलग अलग तरीको से कर सकते है जैसे की

  • बिजली के बल्ब से brooding करना
  • गैस के brooder से गरमाई रखना
  • अंगीठी से ब्रूडिंग करना

आप अपनी सुविधा अनुसार कुछ भी चुन ले। पर चूसो को सर्दियों में खासकर गरम रखने की कोशिश करे। वरना वो मर जाएगे।

चूसो और मुर्गियों के लिए जगह का हिसाब

  • पहला हफ्ता – 1 वर्गफुट में 3 चूज़े
  • दूसरा हफ्ता – 1 वर्गफुट में 2 चूज़े
  • तीसरे हफ्ते से 1 किलो होने तक – 1 वर्गफुट में एक
  • 1 से 1.5 किलोग्राम तक – 1.25 वर्गफुट में एक
  • 1.5 किलोग्राम से बड़े – 1.5 वर्गफुट में एक

पीने के पानी का इंतज़ाम करना

जितने हफ्ते के चूसे है उसकी गुढ़ा 2 से करने से, पानी की खपत का अंदाज़ा 100 चूसो के लिए हो जाएगा।
जैसे की :-

  • पहला हफ्ता = 1* 2 = 2 लीटर 100 चूसो के लिए
  • दूसरा हफ्ता = 2 * 2 = 4 लीटर 100 चूसो के लिए
  • तीसरा हफ्ता = 3 * 2 = 6 लीटर 100 चूसो के लिए

मुर्गियों की खरीदारी

साधारणतः पोल्ट्री फार्मिंग का व्यवसाय शुरू करने के लिए आपको मुर्गी खरीदने की जरूरत नहीं है। शुरुआत में आप छोटे मुर्गी के चूज़े ख़रीदकर इसका पालन शुरू कर दें। चूजों का दाम काफ़ी सस्ता होता है और मात्र 6 हफ़्ते के समय मे ही इनका वज़न 1-2 किलोग्राम तक का हो जाता है।

6-8 हफ़्ते के अंतराल में ही ये बच्चे बड़े होकर मुर्गा तथा मुर्गी का रूप ले लेते हैं। अब जब ये मुर्गियाँ अंडे देने लायक हो जाएगी, तो ख़ुद ही आपके मुर्गियों का स्टॉक बड़ा होने लग जाएगा।

यहाँ पर हम आपको यही सलाह देगें की आप किसी अच्छे पोल्ट्री फार्म से ही चूज़े ख़रीदकर लाएं। ताकि आपको स्वस्थ्य चूज़े मिले। साधारणतः मुर्गी के एक चूज़े की क़ीमत 18-22 रुपये तक होती है, जिसका वज़न 40 से 80 ग्राम तक होता है।

मुर्गियों का उचित ध्यान रखें

Poultry Farming से जुड़े लोगों के लिए अक्सर ये समस्या बनी रहती है कि उनकी मुर्गियाँ बीमार रहती हैं, या फिर धीरे-धीरे कर के मर रही है। आपको बता दें कज ऐसा सिर्फ़ इसलिए होता है क्योंकि मुर्गियों का सही तरह से ध्यान नहीं दिया जाता तथा उनका उचित देखभाल नही किया जाता है।

पोल्ट्री फार्मिंग के व्यवसाय में बहुत से लोगो के साथ ऐसा हो चुका है कि उनकी मुर्गियाँ एक-एक कर के मरती चली गयी, और मजबूरन उन्हें ये धन्धा बंद करना पड़ा। आपके साथ भी ऐसा ना हो, इसलिए मुर्गियों के खान-पान तथा उनके रहन-सहन का ख़ास ख्याल रखें।
यहाँ पर हम आपको इससे जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें बताने जा रहे है, जिसका आपको जरूर ध्यान रखना है.

  • मुर्गियों को हमेशा अच्छी Quality का और प्रोटीनयुक्त दाना ही खाने के लिए दें।
  • मुर्गियों को हमेशा खुली और हवादार जग़ह पर रखें ताकि उन्हें किसी तरह की बीमारी ना लगे।
  • चूजों को रखने की जग़ह का Temperature शुरू -शुरू में 35 डिग्री के आसपास का रखें।
  • चूजों को बार-बार हाथ से ना छुएँ, ऐसा करने से वो डर जाते हैं और उनकी Growth भी रुक जाती है।
  • मुर्गियों के रहने के जग़ह पर Light का इंतज़ाम जरूर करें। उन्हें कभी अँधेरे में ना रखें, क्योंकि मुर्गियाँ अँधेरे में कभी भी खाना नहीं खाती हैं।
  • मुर्गियों के खाने और पानी के बर्तन को हमेशा साफ़ करते रहें। खाने के बर्तन गन्दे होने पर उसमें कीड़े लग जाते हैं, जिससे मुर्गियाँ बीमार हो सकती हैं।
  • जिस Shed में मुर्गियाँ रह रही हैं वहाँ की साफ-सफ़ाई का विशेष ध्यान रखें। कोशिश करें कि Shed की रोज़ाना सफ़ाई हो।

Poultry farming से कितनी कमाई हो सकती है?

Poultry Farming का काम काफ़ी फ़ायदे का सौदा है। इस से आप कई तरह से पैसे कमा सकते हैं। मुर्गियों को बेचने के साथ ही आप इसके अण्डे और चूज़े बेचकर भी कमाई कर सकते हैं।

इस काम के शुरुआती दिनों में आप अपनी मुर्गियों और इसके अण्डे को Local Market में और फ़ूटकर में बेचना शुरू करें। बाद में जब आपका काम बड़ा हो जाये तब आप इसे बड़े Market में और थोक में भी Supply कर सकते हैं। फ़ूटकर Market में एक किलो की मुर्गी का Rate साधारणतः 100-120 रुपये किलो तक का होता है। जबकि आपको इसका चूज़ा मात्र 18-22 रुपये तक में मिल जाता है।

इस तरह से अगर देखा जाए तो प्रत्येक मुर्गी पर आपको लगभग 90-100 रुपये तक का फ़ायदा होता है। अब अगर इसके पालन पर होने वाले ख़र्च को 20 रुपये भी मान लेते है तब भी आपको प्रत्येक मुर्गी पर 60-70 रुपये तक का फ़ायदा होता है।

वहीं दूसरी तऱफ मुर्गी के अण्डो का भी Market में 6-7 रुपये का Rate है। मुर्गी के अण्डो से भी आप अच्छा मुनाफ़ा कमा सकते हैं। हमारे देश मे मुर्गी के माँस तथा इसके अण्डे को लोगो के द्वारा काफ़ी पसन्द किया जाता है।

आने वाले समय में भी Poultry Farming की Demand में काफ़ी इज़ाफ़ा होने वाला है। इसलिए अगर आप इस काम को शुरू करना चाहते हैं तो बिना किसी देरी के इसमें लग जाएं। अब तो Poultry Farming के लिए सरकार द्वारा भी काफ़ी मदद और प्रोत्साहन दिया जा रहा है।

Poultry farming करने के फायदे

बहुत से अलग अलग तरह के काम है जो आप कर सकते है। पर Poultry Farming करने के कुछ अलग ही फायदे है जो दूसरे कामो से बेहतर है जैसे की :-

1. कम पैसो में Poultry farming शुरू हो सकती है।

अगर आपके पास ज़मीन है तो poultry farming शुरू करने के लिए आपको ज़्यादा पैसे नहीं चाहिए। जो भी पैसो की ज़रूरत है उसमे बैंक लोन और सरकार Subsidy देने को त्यार है।

2. कम वक़्त में ज़्यादा पैसे कमा सकते है।

किसी भी business को सही से चलाने और अच्छे पैसे कमाने के लिए कुछ साल का वक़्त लगता है। लेकिन इस काम को अगर अपने ज़िम्मेदारी से किया तो कुछ ही हफ्तों में आपको अपने पैसो का return या profit मिलेगा।

3. Demand बहुत है

मुर्गी की अंडे लोग पूरा साल खाते है। White meat की demand सब जगह बढ़ती जा रही है और मुर्गे का meat सबसे सस्ते और अच्छे White मीट में आता है।

4. Marketing आसान है

आपको अपने मुर्गो को बेचने में कोई परेशानी नहीं आएगी। Demand इतनी है की आपके मुर्गे सही उम्र के होते ही आराम से बिक जाएगे।

5. बैंक आराम से लोन देते है

सरकार की तरफ से पोल्ट्री फार्मिंग को सहारा देने से बैंक भी आराम से लोन दे देते है। बस आपको अपने काम को registered करना है और बैंक की ज़रूरी कागज़ात पुरे करने पर आपको लोन मिल जाएगा।

6. ज़्यादा जगह की ज़रूरत नहीं है

आपको खेती नहीं करनी जो बहुत जगह की ज़रूरत हो। आपको जितने मुर्गे रखने है उस हिसाब से जगह की ज़रूरत होगी।

Murgi Palan Training Center

अगर आप Poultry Farming से जुड़ी और भी जानकारी और इसकी Training लेना चाहते हैं तो सरकार द्वारा इसकी भी व्यवस्था की गई है।

भारत सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश के बरेली ज़िलें में ‘केंद्रीय पक्षी अनुसंधान केंद्र’ स्थापित किया गया है। आप इस संस्थान से मुर्गी पालन की पूरी जानकारी ले सकते हैं। इस संस्थान से Training लेने के लिए आपको इसके निर्धारित शुल्क जो कि 700 रुपये है, भरना पड़ता है।

वहीं अगर आप SC/ST Category के है तो आपको मात्र 400 रुपये ही शुल्क के रूप में देने होते हैं। इस संस्थान से Poultry Farming की Training लेने के लिए आप अपना आवेदन पत्र इस संस्थान के पते पर भेज दें।

केंद्रीय पक्षी अनुसंधान केंद्र में Poultry Farming की Training के लिए आवेदन भेजने का पता है- Head, Technology Transfer Section, CARI, Izzatnagar, Bareilly- 243122 ,(UP)।

One Response

  1. bimlesh minz

Leave a Reply

error: